Thursday, 16 June 2016

जिहाद नहीं है

जिहाद करना है, तो करो ना,
गरीबी के खिलाफ!!

जिहाद करना है,   तो करो ना,
एक तरफी अमीरी के खिलाफ!!

जिहाद   करके,  क्या  फायदा,
अनजान मासूमों के खिलाफ!!

जिहाद जो करे, निर्दोष बेगुनाहों का खुन बहा,
वो तो होता ही नहीं है,
असली मुस्लमान!!

*अगर किसी को इस छन्द को पढ कर अच्छा ना लगे तो मैं इसके लिए माफी मांगती हुं, मेरा इरादा किसी की भी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं है *

शिवान्गी सौम्या

2 comments:

  1. I'm a Muslim and I agree with you. Because "Jihad" never means to kill innocent people. And I assure you none of Actual Muslim will disagree with you.

    ReplyDelete

Say something about this post here
😊